Discord in Congress: Capt Amarinder Singh

कांग्रेस में कलह : सोनिया गाँधी से मिलने के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह , मंत्री और विधायक भी दिल्ली रवाना

Latest Punjab

पंजाब (पंजाब 365 न्यूज़ ) : एक तरफ कोरोना महामारी ने सबकी नींद उदा रखी है तो दूसरी तरफ पंजाब में कांग्रेस का आपसी झगड़ा सुलझने का नाम नहीं ले रहा है। आपको बता दे की पंजाब कांग्रेस में मची कलह शांत नहीं हो रही है। पार्टी में नेताओं के बीच मतभेद लगातार बढ़ रहे हैं। अमरिंदर सिंह के खिलाफ नवजोत सिंह सिद्धू ने खुलकर बोलना शुरू कर दिया है। दो विधायकों के बेटों को सरकारी नौकरी देकर पंजाब सरकार अपनों के निशाने पर आ गई है। पार्टी के पांच मंत्रियों ने इस फैसले पर सवाल खड़े किए। इन सब मतभेदों के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह मंगलवार यानि आज सोनिया गांधी से नई दिल्ली में मुलाकात करेंगे।
विधायकों के बेटों को नौकरी के फैसले ने बढ़ाई बात :
कांग्रेस में कलह रुकने का नाम नहीं ले रही। दो विधायकों के बेटों को नौकरी के फैसले ने कलह और बढ़ा दी है। गुटबाजी और बयानबाजी को देखते हुए कांग्रेस हाईकमान मंगलवार को एक बार फिर पंजाब के कई कांग्रेस नेताओं से मुलाकात करेगा। इसके लिए मुख्यमंत्री सोमवार को ही दिल्ली पहुंचे। खड़गे पैनल से मिलने के बाद मुख्यमंत्री राहुल से मिलेंगे। नवजोत सिंह सिद्धू भी राहुल गांधी के साथ मुलाकात करेंगे।
कांग्रेस नेताओं की सोनिया गांधी से भी मुलाकात की संभावना है। सोमवार को विधायक राजकुमार वेरका, सांसद औजला और कुलजीत नागरा ने राहुल गांधी से मुलाकात की। मंगलवार को सुनील जाखड़, 10 मंत्रियों, 12 विधायकों की तीन मेंबरी कमेटी से मुलाकात होगी। सूत्रों के अनुसार कैप्टन अमरिंदर खड़गे पैनल और राहुल गांधी को नवजोत सिद्धू की बयानबाजी की रिपोर्ट देकर कार्रवाई की मांग करेंगे। इसीबीच, पार्टी के प्रदेश प्रभारी हरीश रावत ने नवजोत सिद्धू की बयानबाजी पर एतराज जताते हुए कहा कि पार्टी इसका नोटिस लेगी।

नवजोत सिद्धू ने CM, के खिलाफ खोला मोर्चा :
नवजोत सिद्धू को कोण नहीं जानता वो अपने व्यानो को लेकर हमेशा चर्चा में बने रहते हैं। नवजोत सिद्धू द्वारा एक बार फिर सीएम के खिलाफ मोर्चा खोलने के बाद मंगलवार को होने वाली बैठक का महत्व बढ़ गया है। सिद्धू ने कहा है कि वह चुनाव में इस्तेमाल होने वाले ‘शो पीस’ नहीं हैं। इससे पहले सिद्धू ने कहा था कि बार-बार कहने पर भी जब सरकार ने ठोस कदम नहीं उठाए तो उनको सिस्टम से हटना पड़ा। कैप्टन के खिलाफ सिद्धू लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। दोनों नेता पहले पैनल के समक्ष अपनी बात रखेंगे फिर सोनिया गांधी, राहुल गांधी से मिलेंगे। दोनों को आमने-सामने बैठाकर विवाद खत्म करने की कोशिश होगी।


अब देखना ये होगा की आज दिल्ली जाकर इनका आपसी विवाद सुलझता है की नहीं या फिर बातों बातों में बाते और उलझा लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *