पटना : जब बैंक में पैसे लेने पहुँच गया ” मुर्दा “

Latest National

पटना न्यूज़  (पंजाब 365 न्यूज़) : अजीबो गरीब किस्से तो बहुत सुने होंगे लेकिन आज हम भी आपको एक सच्ची घटना बताते है।  अगर आप बैंक में जॉब करते हो और और एकाएक आपके सामने मुर्दा पैसे लेने आ पहुंचे तो आप क्या करेंगे।  जी हाँ आज आपको हम पटना  की एक सच्ची घटना के बारे में बताने जा रहे है यहां एक बैंक में मुर्दा पैसे लेने आ पहुंचा , जिसे देख के वहां के लोगो के होश उड़ गए।

मामला कुछ ऐसे है की बिहार की राजधानी पटना क पास शाहजहाँपुर थाना क्षेत्र के गांव सिग्रियावा का है।  हुआ कुछ यूं की सिग्रिया गाँव के निवासी (55) वर्षीय महेश यादव की मंगलवार की सुबह किसी बीमारी के चलते मौत हो गयी।  महेश की शादी नहीं हुए थी और वह परिवार में अकेला था आगे पीछे कोई नहीं था।  संस्कार के लिए पैसो की जरूरत थी इसलिए गांव बाले केनरा बैंक गए यहाँ महेश का अकाउंट था लेकिन महेश के बिना बैंक वालों ने पैसे देने से मना कर दिया।

इस बात से नाराज़ होकर ग्रामीण महेश यादव की लाश लेकर बैंक जा पहुंचे और लाश को बैंक के अंदर जा कर रख दिया , ये मंजर देख के बैंक के कर्मचारी भी हैरान परेशान थे , लगभग तीन घंटे तक महेश की लाश बैंक में पड़ी  रही।  लेकिन ग्रामीण मानने को तैयार नहीं थी।  जब गाँव बाले नहीं मने तो बैंक मैनेजर ने अपनी जेब से 10000 Rs  देकर मामला शांत करवाया।

पैसे मिल जाने पर ग्रामीण महेश की लाश को अंतिम संस्कार के लिए ले गए।  दरअसल महेश की शादी नहीं हुए थी और आगे पीछे भी कोई न था और बैंक में नॉमिनी भी नहीं लिखवाया था यहां तक की उसकी (KYC) भी नहीं अपडेट थी।  इसी कारण बैंक ने पैसा देने से इंकार कर दिया था।

केनरा बैंक के मैनेजर ने बताया की बैंक की भी एक  प्रक्रिया होती हैजिसके अनुसार गांव वालो को पैसे  नहीं दे सकते थे   क्योकि उनके कहते में कोई नोमनी भी नहीं था , मैनेजर ने बताय की जब उनकी मौत के कागज़ात आ जायेंगे तो उनके क्लेमर को पैसे दे दिए जायेंगे।

Total Page Visits: 240 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *