Breaking news : कुछ इस तरह से होगा नया संसद भवन , तय समय पर होगा संसद भवन का निर्माण , सुप्रीम कोर्ट ने दी मंज़ूरी

Latest National

New delhi (पंजाब 365 न्यूज़ ): राष्ट्रिय राजधानी दिल्ली में संसद की नयी बिल्डिंग बनाने का रास्ता साफ़ हो गया है।  सुप्रीम कोर्ट से केंद्र की मोदी सरकार को बड़ी राहत मिली है।  शीर्ष अदालत ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को हरी झंडी दे दी है। पिछली सुनवाई में शीर्ष अदालत ने संसद भवन के शिलान्यास को मंज़ूरी दी थी।  नए संसद भवन में लोकसभा का आकार मौज़ूदा संसद से तीन गुना ज्यादा होगा।  राजयसभा का भी आकार बढ़ेगा। 

कुल (64500) वर्गमीटर क्षेत्र में नए संसद भवन का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड की और से कराया जायेगा।  नए संसद भवन का डिज़ाइन (hpc) डिज़ाइन प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने तैयार किया है। शहरी कार्य मंत्रालय के अधिकारीयों के मुताबिक , नया  संसद भवन वर्ष (2022) में आज़ादी की (75)वी वर्षगांठ के अवसर पर होगा।

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को संसद भवन की नई इमारत और केंद्रीय सचिवालय के निर्माण के लिए आवश्यक भूमि उपयोग बदलाब को मंज़ूरी दे दी है। नया संसद भवन साढ़े नौ एकड़ ज़मीं पर बनाया जायेगा।  दिल्ली विकास प्राधिकरन के भूमि संबंधी बदलाव के लिए भेजे गए प्रस्ताव में मौजूदा हरित क्षेत्र को बरकरार रखने का प्रावधान किया गया है।

सेंट्रल विस्टा की प्रमुख इमारतें राष्ट्रपति भवन , संसद भवन , नार्थ व् साउथ ब्लॉक , इंडिया गेट , नेशनल आकाइवस का निर्माण (1931) से पहले का है।  केंद्रीय सचिवालय के लिए बिभिन्न मंत्रालयों  की इमारते जरूरत के हिसाब से खाली भूखंडों पर अव्यवस्थित  तरीके से किया गया है। संसद भवन की इमारत वर्ष (1927) में बनी है। जिसे अब हेरिटेज बिल्डिंग घोषित किया जायेगा।

मौज़ूदा भवन में जगह कम होने की वजह से संसदीय जरूरतें पूरी नहीं हो पा रही है। प्रस्तावित कॉमन सेन्ट्रल सचिवालय की इमारतें एक साथ बनाई जाएगी , जो सभी आधुनिकतम सुविधाओं से लैस होगी।  राजपथ की सुंदरता को और बढ़ाने के लिए हरित पट्टी और पानी की कृतिम नहरों को और सूंदर बनाया जायेगा।  संसद की नई इमारत मौज़ूदा संसद भवन के सामने की जगह के साढ़े नौ एकड़ भूमि में बनेगी।

इसके   क्षेत्र के  चारों दिशाओं की सीमा के उत्तरी और पर   रेडक्रॉस रोड , दक्षिण में रायसीना रोड और पश्चिम में संसद भवन होगा।  जबकि दूसरा भूखंड मौज़ूदा शास्त्री भवन का है , यहां (588) एकड़ में सरकारी कार्यालय बनेगा।  सेंट्रल विस्टा की कोई भी इमारत इंडिया गेट से अधिक ऊँची नहीं होगी

Total Page Visits: 195 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *