Another farmer died

breaking news : सिंधु बॉर्डर पर एक और किसान की मौत

Latest National

नई दिल्ली (पंजाब 365 न्यूज़ ) : चार महीनो से ज्यादा हो चूका है किसानों का विरोध प्रदर्शन होते हुए , किसान भी दते हुए है कृषि कानूनों के विरूद्ध। इसी बीच किसानों की मौत का सिलसिला भी जारी है। कल यानी शुक्रवासर को भी सिंधु बॉर्डर पर एक और किसान की मौत हो गयी है। ये किसान भी किसान आंदोलन में कई दिनों से शामिल था कल TDI- मॉल के सामने अचानक से किसान की मौत हो गयी।।
मृतक किसान का नाम हंसा सिंह था और मृतक किसान की उम्र 70- साल थी। मृत्तक हंसा सिंह पंजाब के मोगा ज़िले के शहद मोहम्मद के रहने बाले थे।मामले की सुचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्ज़े में लेकर सिविल अस्पताल सोनीपत लाया गया। फिलहाल पुलिस मामले की जाँच कर रही है।
वहीँ परिजनों का आरोप है की हंसा सिंह की मौत ठण्ड की वजह से हुई है।
आपको बता दे की 2020–2021 भारतीय किसानों का विरोध तीन कृषि कृत्यों के खिलाफ चल रहा है, जिसे भारत की संसद ने सितंबर 2020 में पारित किया था।
किसान यूनियनों और उनके प्रतिनिधियों ने मांग की है कि कानूनों को निरस्त किया जाएगा और इसे कुछ भी स्वीकार नहीं किया जाएगा। किसान नेताओं ने खेत कानूनों के कार्यान्वयन के साथ-साथ सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त समिति की भागीदारी पर भारत के एक सर्वोच्च न्यायालय के आदेश को खारिज कर दिया है। किसान नेताओं ने भी 18 जनवरी 2021 के कानूनों को निलंबित करते हुए 21 जनवरी 2021 के एक सरकारी प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। 14 अक्टूबर 2020 और 22 जनवरी 2021 के बीच कृषि यूनियनों द्वारा प्रतिनिधित्व केंद्र सरकार और किसानों के बीच ग्यारह दौर की वार्ता हुई है; सभी अनिर्णायक थे।
लेकिन अभी तक भी सरकार और किसानों के बीच बात बनते नज़र नहीं आ रही है।

Total Page Visits: 99 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *