These veterans could not give themselves their votes

ये दिग्गज खुद को ही नहीं दे पाए अपना वोट जानिए वजह ?

Latest Punjab

पंजाब ( पंजाब 365 न्यूज़ ) : भारत में हर नागरिक को ये हक़ है की वो अपन वोट की भी पार्टी को दे सकता है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की पंजाब के दिग्गज नेता खुद अपने लिए अपना वोट नहीं दे पाए बजह है ये : यह पहली बार ही हो रहा है कि पंजाब में कई सियासी दिग्गज अपने लिए ही वोट नहीं डाल पाए। इनमें तीन चेहरे तो बड़ी राजनीतिक पार्टियों के मुख्यमंत्री चेहरे हैं। इनमें कांग्रेस से चरणजीत सिंह चन्नी, आप से भगवंत मान और शिअद से सुखबीर सिंह बादल शामिल हैं। इनके अलावा बठिंडा से वित्त मंत्री मनप्रीत बादल और आप छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुईं रूपिंदर कौर रूबी भी अपने लिए वोट नहीं डाल पाईं। चरणजीत चन्नी को पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने मुख्यमंत्री चेहरा घोषित किया है। पार्टी की ओर से उन्हे भदौड़ और चमकौर साहिब सीट से प्रत्याशी बनाया गया है। वह खरड़ विधानसभा सीट से मतदाता के रूप में दर्ज हैं। यही वजह है कि वह अपने लिए मतदान नहीं कर सके।आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री चेहरा सांसद भगवंत मान हैं। उनका वोट मोहाली में है। जबकि मान धूरी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। चुनाव में वह अपना वोट मोहाली में डालने आए।


प्राइमरी स्कूल में किया मतदान ;
भगवंत मान धूरी से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। वह मोहाली के फेज-3बी1 में रहते हैं। मान सुबह आठ बजे मतदान करने पहुंचे। इससे पहले फेज-3बी1 स्थित गुरुदारा साचा धन साहिब में माथा टेका। इसके बाद माता वैष्णो देवी के चरणों में हाजिरी लगाई। इसके बाद फेज-3बी1 के सरकारी प्राइमरी स्कूल में मतदान किया।


चन्नी ने भी की जीत की दुआ :
पंजाब के सीएम व चमकौर साहिब से कांग्रेस उममीदवार चरणजीत सिंह चन्नी ने अपने गृह शहर खरड़ में मतदान किया। मतदान से पहले उन्होंने इलाके के कई धार्मिक स्थानों में माथा टेका। पार्टी की जीत की दुआ की।

सुखबीर बादल भी अपने लिए वोट नहीं कर पाए :
अकाली दल-बसपा गठबंधन के अघोषित मुख्यमंत्री चेहरा सुखबीर बादल भी अपने लिए वोट नहीं कर पाए। वह जलालाबाद सीट से चुनाव मैदान में हैं, जबकि उनका वोट बादल गांव में आता है। लंबी से उनके पिता प्रकाश सिंह बादल चुनाव मैदान में हैं। बठिंडा से वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि उनका वोट गिद्दड़बाहा में दर्ज है। वह इस चुनाव में अपने लिए ही वोट नहीं कर पाए। इसी तरह मलोट से चुनाव लड़ रही रूपिंदर रूबी का वोट बठिंडा देहात में है। वह भी अपने खातिर मतदान नहीं कर सकीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *