The offering made in Chintpurni broke the record of 1987

माँ चिंतपूर्णी में चढ़े चढ़ावे ने तोडा 1987 का रिकॉर्ड :एक दिन हुआ इतने लाख का चढ़ावा

Latest National

ऊना (पंजाब 365 न्यूज़ ) : हिमाचल प्रदेश का प्रसिद्ध शक्तिपीठ माँ चिंतपूर्णी हमेशा ही श्रद्धालुओं के लिए बहुत बड़ा आस्था का केंद्र है। हर लोग यहां हज़ारो श्रद्धालु माथा टेकने आते है और अपनी मन की मुरादों को माता तक पहुंचते है। जिनकी भी यहां मनोकामनाएं पूर्ण होती है वो यहां आकर अपनी इच्छा के अनुरूप चढ़ावा चढ़ाते हैं। मां के भक्त दिल खोलकर नकद चढ़ावे के अलावा सोना-चांदी, वाहन और विदेशी करेंसी भेंट करते हैं। यही कारण है कि चिंतपूर्णी मंदिर प्रदेश के सभी मंदिरों में आमदनी के मामले में नंबर एक पर आता है। बीते साल 2021 में भी मंदिर न्यास चिंतपूर्णी को करीब 21 करोड़ नकद चढ़ावा प्राप्त हुआ था जोकि प्रदेश के सभी मंदिरों से अधिक था।


लेकिन इस बार भक्तो के चढ़ावे ने 34,साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया । प्रसिद्ध शक्तिपीठ चिंतपूर्णी मंदिर में श्रद्धालुओं ने एक दिन में रिकॉर्ड तोड़ 25.47 लाख रुपये नकद चढ़ावा चढ़ाया है। मंदिर न्यास चिंतपूर्णी को बीते वीरवार को चढ़ाए गए नकद चढ़ावे से यह धनराशि मिली है। यह चढ़ावा मंदिर अधिग्रहण के 1987 से लेकर अब तक का सबसे ज्यादा नकद चढ़ावा है। जानकारी के अनुसार करीब तीन साल पहले मंदिर न्यास को एक दिन में 22 लाख रुपये की नकदी प्राप्त हुई थी, लेकिन बीते गुरुवार को यह रिकॉर्ड टूट गया। मंदिर न्यास ने शुक्रवार को गणना के लिए दानपात्र खोले तो दो-दो हजार के नोटों के ही 11 बंडल दानपात्र से मिले। गिनती करने पर कुल चढ़ावा 25.47 लाख रुपये मिला। बता दें कि देश के प्रसिद्ध शक्तिपीठों में शामिल चिंतपूर्णी मंदिर में देशभर से श्रद्धालु पहुंचते हैं। 12 महीने भक्तों की आवाजाही मां के दरबार में रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *