PM Modi's Ferozepur rally today

PM मोदी की आज फिरोजपुर रैली : इतने करोड के प्रोजेक्ट्स का करेंगे उद्घाटन

Latest Punjab

फिरोजपुर ( पंजाब 365 न्यूज़ ) : किसान आंदोलन खत्म होने को दो महीने पूरे होने को है। उसके बाद से आज pm-मोदी पंजाब के फिरोजपुर में रैली करेंगे। आज वहां की रैली इ pm- मोदी वहां की जनता को बड़ा तोहफा देने वाले हैं। वह फिरोजपुर में PGI के सैटेलाइट सेंटर समेत 42,750 करोड़ रुपए के प्रोजेक्टों का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद फिरोजपुर में ही चुनावी रैली को संबोधित करेंगे। पंजाब में यह भाजपा के चुनाव प्रचार की शुरुआत होगी। भाजपा के पंजाब चुनाव प्रभारी केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत की अगुवाई में पिछले कई दिनों से रैली की तैयारियां चल रही हैं। पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी पीएम मोदी के साथ स्टेज पर दिखेंगे। आपको बता दे की बारिश की वजह से भी रैली पर असर पड़ रहा है। बुधवार को मौसम विभाग की ओर से जताई गई संभावना सही साबित हुई और फिरोजपुर में बरसात शुरू हो गई है। बरसात और किसान संगठनों के विरोध के कारण सुरक्षा एजेंसियां भी बेहद चिंतित हैं। पंजाब सरकार ने किसानों की लंबित मांगों पर चर्चा के लिए तीन किसान नेताओं सतनाम सिंह पन्नू, सविंदर सिंह चौटाला और सरवन सिंह पंढेर को 15 मार्च को पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के लिए आमंत्रित किया है। रैली का विरोध करने पहुंच रहे किसानों को फिरोजपुर में प्रवेश से रोकने के लिए 10 हजार पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। रैली स्थल पर सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन के माध्यम से पैनी नजर रखी जा रही है।
नहीं पहुंच पाएंगे CM चन्नी :
PGI सेटेलाइट सेंटर के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांदाविया, गजेंद्र शेखावत, मीनाक्षी लेखी, राज्यपाल बनवारी लाल राजपुरोहित भी हिस्सा लेंगे। सीएम चरणजीत सिंह चन्नी पहले ही कह चुके हैं कि स्टाफ के दो सदस्य कोविड पाजिटिव आने के कारण वह खुद नहीं पहुंच पाएंगे, लेकिन वर्चुअल तौर पर मौजूद रहेंगे। सुबह से ही भाजपा कार्यकर्ता कार्यक्रम स्थल पर पहुंच रहे हैं। बारिश के कारण कार्यक्रम में विलंब होने के बावजूद की रैली में शामिल होने वालों का उत्साह थमता नजर नहीं आ रहा। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस ने कड़े इंतजाम किए हैं। सुरक्षा एजेंसियां कार्यक्रम स्थल के साथ आसपास क्षेत्र में सक्रिय हैं।


आपको बता दे की यूपीए सरकार ने वर्ष 2013 में पंजाब के फिरोजपुर व संगरूर में पीजीआइ के सैटेलाइट सेंटर बनाने की घोषणा की थी। इसके बाद फिरोजपुर में भूमि को लेकर पंजाब व केंद्र सरकार में विवाद चलता रहा। तत्कालीन भाजपा के प्रधान कमल शर्मा और कांग्रेसी विधायक परमिंदर सिंह पिंकी में क्रेडिट वार चलता रहा। वर्ष 2014 में केंद्र में एनडीए आने के बाद केंद्र ने ही इसके लिए ग्रांट जारी की थी। भाजपाई इसे आईटीआइ की जगह पर बनवाना चाहते थे ताकि शहर में व्यापार के साधन प्रफुल्लित हो सके और लोगो को भी यहां आने में आसानी हो। लेकिन कांग्रेसियों न इसके यहां न बनने का विरोध किया।


भाजपा के पंजाब चुनाव प्रभारी गजेंद्र शेखावत ने कहा कि भाजपा जिस भी प्रोजेक्ट का शिलान्यास करती है, उस कार्य को पूरा भी अपने शासनकाल में करती है। केंद्र सरकार डेडलाइन के अंदर ही इसका निर्माण कार्य पूरा कर सीमावर्ती जिले के लोगो को बेहतरीन सुविधाए प्रदान करेगी।
PM-मोदी करेंगे तोहफों की पंजाब पर बौछार : होगा इन चीज़ों का उद्घाटन :
कपूरथला और होशियारपुर में लगभग 325 करोड़ रुपए की लागत से लगभग 100 सीटों की क्षमता वाले दो मेडिकल कॉलेज बनाए जाएंगे। इस योजना के तहत पंजाब के लिए 3 मेडिकल कॉलेज मंजूर किए गए हैं, जिनमें से मोहाली के लिए मंजूर किए कॉलेज में कामकाज पहले ही शुरू हो चुका है।
फिरोजपुर में 490 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से 100 बिस्तरों वाला पीजीआई सैटेलाइट सेंटर बनाया जाएगा। यह सेंटर आंतरिक चिकित्सा (इंटरनल मेडिसिन), शल्य-चिकित्सा (जनरल सर्जरी), हड्डी रोग, प्लास्टिक सर्जरी, न्यूरोसर्जरी, प्रसूति एवं स्त्री-रोग, बाल चिकित्सा, नेत्र-रोग (ऑप्थल्मोलॉजी), कान, नाक एवं गला रोग और मनोरोग चिकित्सा– नशा मुक्ति आदि में सेवाएं प्रदान करेगा।
410 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से मुकेरियां और तलवाड़ा के बीच बनने वाली लगभग 27 किलोमीटर लंबी एक नई ब्रॉड गेज रेलवे लाइन बनेगी। इससे इस इलाके में सभी मौसम में आवागमन लायक परिवहन का साधन उपलब्ध होगा। यह मुकेरियां में मौजूदा जालंधर-जम्मू रेलवे लाइन से जुड़कर जम्मू एवं कश्मीर के लिए एक वैकल्पिक मार्ग के रूप में काम करेगी। इससे पंजाब के होशियारपुर और हिमाचल प्रदेश के ऊना के लोगों को फायदा होगा।
लगभग 1700 करोड़ रुपए की लागत से अमृतसर-ऊना रोड को फोर लेन बनाया जाएगा। कुल 77 किलोमीटर लंबी यह रोड उत्तरी पंजाब और हिमाचल प्रदेश के बीच अमृतसर से भोटा कॉरिडोर का हिस्सा है, जो चार प्रमुख नेशनल हाईवे यानी अमृतसर-बठिंडा-जामनगर आर्थिक कॉरिडोर, दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस-वे, उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर और कांगड़ा-हमीरपुर-बिलासपुर-शिमला कॉरिडोर– को जोड़ता है। यह रोड श्री हरगोबिंदपुर और पुलपुक्ता शहर (प्रसिद्ध गुरुद्वारा पुलपुक्ता साहिब का स्थान) में स्थित धार्मिक स्थलों के लिए आवागमन को बेहतर करने में मदद करेगा।
लगभग 39,500 करोड़ रुपए की कुल लागत से 669 किलोमीटर लंबे दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस-वे को विकसित किया जाएगा। यह दिल्ली से अमृतसर और दिल्ली से कटरा जाने में लगने वाले समय को आधा कर देगा। ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे, प्रमुख सिख धार्मिक स्थलों- सुल्तानपुर लोधी, गोइंदवाल साहिब, खडूर साहिब, तरनतारन और कटरा स्थित वैष्णो देवी के पवित्र हिंदू मंदिर को आपस में जोड़ेगा। एक्सप्रेस-वे, तीन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों- हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब और जम्मू और कश्मीर के अंबाला, चंडीगढ़, मोहाली, संगरूर, पटियाला, लुधियाना, जालंधर, कपूरथला, कठुआ और सांबा जैसे प्रमुख आर्थिक केंद्रों को भी जोड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *