If daughters are in the house

घर में हैं बेटियां तो मिलेंगे लाखो सिर्फ अपनाये ये योजना

Latest Lifestyle National

स्कीम ( पंजाब 365 न्यूज़ ) : हर माँ बाप अपने बच्चों को भरपूर प्यार और अच्छी परवरिश देते है लेकिन अगर सच में आप अपने बच्चो खासकर बेटियों से बेहद प्यार करत है तो ये खबर आपके लिए है। अगर आप नए साल के मौके पर अपनी बेटी को तोहफा देना चाहते हैं तो सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanaya Samridhi Yojna – SSY) अच्छा विकल्प है. सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना आपको न सिर्फ शानदार रिटर्न कमाने का मौका देती है, बल्कि आप अपनी बेटी की हायर एजुकेशन, करियर और शादी के लिए निश्चिंत हो जाएंगे। 10 साल से कम उम्र की बेटी का सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट खोला जा सकता है.बेटियों के भविष्य को उज्जवल एवं सुरक्षित बनाने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की बचत योजनाओं का संचालन किया जाता है। इन बचत योजनाओं पर इनकम टैक्स छूट एवं उच्चतर ब्याज दर प्रदान किया जाता है। जिससे कि लोग इन योजनाओं में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित हो सके और बेटियों का भविष्य सुरक्षित हो सके। आज हम आपको केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई ऐसी ही एक योजना से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम सुकन्या समृद्धि योजना है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थी द्वारा निवेश करके एकमुश्त राशि बेटी की शिक्षा या फिर शादी के लिए प्राप्त की जा सकती है। इस लेख के माध्यम से आपको Sukanya samriddhi Yojana से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। इसके अलावा आप पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज एवं आवेदन से संबंधित जानकारी भी इस लेख को पढ़कर प्राप्त कर सकेंगे। जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कैंपेन के अंतर्गत लांच किया गया था जिससे कि बेटियों के भविष्य को सुरक्षित किया जा सके। इस योजना के अंतर्गत किए गए निवेश को कन्या के विवाह एवं शिक्षा के लिए उपयोग किया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि अकाउंट को पोस्ट ऑफिस एवं बैंक में खोला जा सकता है। इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 80c के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत डेढ़ लाख तक का कर लाभ प्रदान किया जाता है।


क्या है ये योजना और कितना मिलता है लाभ :
सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है. जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लॉन्च किया गया है. छोटी बचत स्कीम में सुकन्या सबसे बेहतर ब्याज दर वाली योजना है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट किसी बच्ची के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र में कम से कम 250 रुपये के जमा के साथ खोला जा सकता है. करेंट फिस्कल ईयर में सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अधिक से अधिक 1.5 लाख रुपये तक सालाना जमा कर सकते हैं. फिलहाल इस पर 7.6 फीसदी ब्याज मिल रहा है. इस स्कीम में कोई भी शख्स अपनी दो बेटियों के लिए अकाउंट खुलवा सकता है. 21 साल की उम्र में बेटियां इस अकाउंट से पैसा निकाल सकती हैं. इस स्कीम में 9 साल 4 महीने में रकम डबल हो जाएगी। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खोला जा सकता है।

इस योजना के अंतर्गत इंटरेस्ट रेट पहले 8.4% निर्धारित किया गया था जिसे अब 7.6% कर दिया गया है। इस योजना की अवधि पूरी होने के पश्चात या फिर कन्या यदि एन आर आई या नोन सिटिजन बन जाती है तो इस स्थिति में ब्याज नहीं प्रदान किया जाता। तिमाही आधार पर सरकार द्वारा ब्याज दर निर्धारित की जाती है।
भारत सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ किया गया है। यह एक बचत योजना है। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए बेटी की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अकाउंट खुलवाना होगा। इस अकाउंट में निवेश की न्यूनतम सीमा ₹250 रुपए है तथा अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपए हैं। यह निवेश बेटी की उच्च शिक्षा या फिर शादी के लिए किया जा सकता है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा निवेश पर 7.6% की दर से ब्याज प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत निवेश करने पर टैक्स में छूट भी प्रदान की जाएगी। यह योजना केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई एक छोटी बचत योजना है। इस योजना को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम के अंतर्गत लांच किया गया है।

इस योजना के अंतर्गत अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाते का संचालन बेटी की आयु 21 वर्ष की होने या फिर 18 वर्ष की आयु के बाद शादी होने तक किया जा सकता है। बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 18 वर्ष की आयु के बाद 50% की रकम की निकासी की जा सकती है।
भारतीय डाकघर द्वारा संचालित सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार ने बेटियों की शिक्षा तथा उनके विवाह के लिए आरंभ की थी। इस योजना के अंतर्गत पैसों का भुगतान करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाना पड़ता है। पर अब भारतीय डाक घर द्वारा डिजिटल अकाउंट लांच किया गया है। इस डिजिटल अकाउंट के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में पैसे जमा किए जाएंगे। अब पोस्ट ऑफिस में भी अन्य बैंकों की तरह डिजिटल सेविंग अकाउंट सेवा शुरू की गई है। इस डिजिटल अकाउंट की वजह से अब खाताधारकों को खाते में पैसे जमा करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं है। वह अपने मोबाइल के माध्यम से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।


सुकन्या समृद्धि योजना से इन लड़कियों को मिलेगा लाभ :

Sukanya Samriddhi Yojana 2022 के अंतर्गत केवल एक परिवार की दो बेटियों को ही लाभ मिल सकता है। यदि एक परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तो इस योजना का लाभ केवल उस परिवार की दो बेटियां ही उठा सकते हैं। लेकिन यदि किसी परिवार में जुड़वा बेटियां हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ अलग-अलग मिलेगा यानी कि फिर उस परिवार की तीन बेटियां लाभ उठा पाएंगी। जुड़वा बेटियों की गिनती एक ही होगी लेकिन उनको लाभ अलग-अलग दिया जाएगा।इस योजना के अंतर्गत वह सभी लोग अपनी बेटी का खाता खोल सकते हैं जो अपनी बेटी की शादी तथा पढ़ाई के लिए पैसा जमा करना चाहते हैं। आपको बता दें इस योजना के अंतर्गत 10 साल से कम की आयु की कन्याओं का खाता खोला जा सकता है। Sukanya Samriddhi Yojana को सरकार द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत आरंभ किया गया है।
कब शुरू हुई थी ये योजना :
इस योजना की शुरुआत 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत की थी. बाकी छोटी-बड़ी बचत की योजनाएं देखें तो इस दर पर रिटर्न कहीं नहीं मिलता, वह भी 250 रुपये जैसी छोटी जमा पर. साल में 250 रुपये की सीमा रखी गई है जो कि न्यूनतम है. यानी इस खाते में कम से कम 250 रुपये जमा कर सकते हैं. अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक जमा करने की छूट है. खास बात ये कि बेटी के नाम से सुकन्या (Sukanya Samriddhi Yojana) में पैसा जमा करने वाले पिता को सरकार की तरफ से टैक्स छूट का लाभ दिया जाता है. इसका अर्थ हुआ कि एक तरफ बेटी का भविष्य सुरक्षित होता है तो दूसरी ओर बाप को बचत करने की सुविधा मिलती है।
जानिए मैच्योरिटी पर कितना मिलेगा पैसा :
पैसा परिपक्वता से पहले भी निकालने की सुविधा मिलती है, लेकिन कुछ शर्तों के साथ. अच्छा रहेगा अगर खाता परिपक्व होने पर पैसे निकाले जाएं. इससे पूरा ब्याज चक्रवृद्धि के साथ जुड़ कर मिलता है. 7.6 फीसदी का हिसाब लगाएं तो आपकी बेटी को 2041 में 25,46,062 रुपये मिलेंगे.

स्कीम (Sukanya Samriddhi Yojana) की एक खास बात यह है कि इसमें पूरे 21 साल पैसे नहीं जमा करने होते बल्कि 15 साल तक पैसे भर सकते हैं. इतने साल तक आपको 9 लाख रुपये जमा करने होंगे अगर 60 हजार हर साल जमा करते हैं. 9 लाख की राशि पर आपको 16,46,062 रुपये का ब्याज मिलता है. इस तरह बेटी के नाम 21 साल में आसानी से 25 लाख से अधिक रुपये जुट जाते हैं. यह पैसा उच्च शिक्षा या शादी के लिए खर्च कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *