birthday special

नेताजी सुभाष चंद्र बॉस की 125-वी जयंती की सभी को हार्दिक शुभकामनायें

Latest National

Netaji special  (पंजाब 365 न्यूज़)  : सुभाष चंद्र बोस  का जन्म 23- जनवरी 1897- को हुआ था, 18-अगस्त 1945- को भारत माता की स्वतंत्रता के लिए अपने जीवन को न्योछाबर कर दिया।  नेताजी   एक भारतीय राष्ट्रवादी थे जिनकी उद्दंड देशभक्ति ने उन्हें भारत में एक नायक बना दिया था, लेकिन जिनके द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नाजी जर्मनी और इम्पीरियल जापान की मदद से भारत को ब्रिटिश शासन से छुटकारा दिलाने का प्रयास किया गया था।

बोस ने जवाहरलाल नेहरू के बाद भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक छोटे से विंग में नेतृत्व किया, जो 1920 के दशक के उत्तरार्ध में कम संवैधानिक था और 1930 के दशक में समाजवाद के लिए अधिक खुला था। वह 1938 में कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए उठे। हालांकि, 1939 में फिर से चुने जाने के तुरंत बाद, उन्हें महात्मा गांधी और कांग्रेस आलाकमान के साथ मतभेदों के बाद कांग्रेस के नेतृत्व के पदों से हटा दिया गया था। 1940 में भारत से भागने से पहले उन्हें बाद में अंग्रेजों द्वारा नजरबंद कर दिया गया।

सुभाष चंद्र बॉस को “नेताजी ” भी बुलाया जाता है।  वह भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रख्यात नेता थे।  हालाँकि देश की आज़ादी में योगदान का ज्यादा श्रेय महात्मा गाँधी और नेहरू को दिया जाता है , मगर सुभाष चंद्र बॉस का योगदान भी किसी से कम नहीं था।

नेताजी का मानना था की सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना होता है।

नेताजी का प्रमुख नारा ” तुम मुझे खून दो मई तुझे आज़ादी दूंगा ” बहुत प्रसिद्ध था।

नेताजी के बलिदान के लिए देश सदैव उनका ऋणी रहेगा।  नेताजी ने भारत में राष्ट्रवाद ने एक ऐसी शक्ति का संचार किया है , जो लोगो के अंदर सदिओं से निष्क्रिय पड़ी थी।

23- जनवरी को पराक्रम दिवस भारत में मनाया जाता है। भारत सरकार द्वारा 2021- में नेताजी सुभाष चंद्र बॉस की 125-वी जयंती से पहले इस दिवस को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *