SARVJEET KOUR

मामला दर्ज होने के बाद आप विधायका ने वापस की अपनी सुरक्षा,विधायक मानुके ने पुलिस पर लगाए ये आरोप

Latest Punjab

जगराओं:-(ज्ञानदेव बेरी-दिनेश शर्मा) : सिटी पुलिस द्वारा विपक्ष की उपनेता व जगराओं से आम आदमी पार्टी से विधायक सर्बजीत कौर पर मामला दर्ज करने के बाद विधायक विधायक सर्बजीत कौर ने अपनी जिलां स्तर की सुरक्षा को वीरवार को यह कह कर वापस कर दिया कि उन्हे जिलां पुलिस पर भरोसा नही है हलाकि पंजाब स्तर की सुरक्षा उन के पास है जिसका जिलां स्तर की पुलिस से कोई संबंध नही होता इतना ही नही ।

उन्होने कहा कि कांग्रेस राज में इंसाफ मांगना गुनाह हो गया है अपने हक के आवाज उठाने पर पुलिस कांग्रेस के ईशारे पर मामले दर्ज करने में जुटी हुई है उन्होने साफ कहा पुलिस एक नही जितने चाहे मामले दर्ज कर ले वह डरने वाली नही है उन्होने कहा कि कांग्रेस का यही फंडा रहा है । यदि किसी को दबाना है तो पहले उस पर मामला दर्ज करने डराया जाए । लेकिन इस बार उनका पाला पंजाब की शेरनी से पड़ा है ।जो डरने वाली नही डराने वाली है।

विधायक मानुके कहा कि जिला पुलिस द्वारा उन्हें दिया गया एक सुरक्षाकर्मी उन्होंने वीरवार सुबह यह कहते हुए वापस लौटा दिया कि उन्हें यहां की पुलिस पर कोई भरोसा नहीं है । जब कि चार सुरक्षाकर्मी अब भी उन के पास है उन्होने कहा कि चुनावो की गिनती दौरान कांग्रेस के ईशारे पर प्रशासन ने सरेआम घपलेबाजी की है । इसी लिये मीड़िया को भी एक घंटे तक बाहर रोके रखा ताकि वह आंकड़ो में हेरफेर कर सके । इसी लिये तो उम्मीदवारों को मशीनो पर आ रहे आंकड़े दिखाए तक नही गए । इतना ही नही उनहोने और कहा की आप यह जानकर हैरान होगे कि एसडीएम ने मशीने खुलने से पहले ही एक पर्ची पर नतीजे लिखे हुए थे ।

उसी पर्ची से पढ़ कर जीत हार का फैसला किया जा रहा था उन्होने कहा कि वार्ड 13 से उनकी पार्टी का उम्मीदवार जीता हुआ था लेकिन कांग्रेस ने अपने ब्लाक प्रधान की पत्नी को जीत दिलाने एवं अपनी नाक बचाने के लिए ड्रामेबाजी की । ऐसा सिर्फ वार्ड 13 में नही हुआ अन्य वार्डो में भी कांग्रेस ने अपने चहेतो को जीताने के लिये ऐसा ही किया ।

उन्होने कहा जब उन के उम्मीदवारों ने मशीनो से निकलने वाली पर्ची मांगी तो उन्हे देने से इंकार कर दिया । उन्होने कहा कि मीडिया को भी मशीनो के पास जाने से इसी लिये रोका गया था ताकि कही उनकी पोल न खुल जाए ।अगर कांग्रेस व प्रशासन को डर नही था तो मीड़िया को क्यो रोका गया ।

मानुके ने कहा कि जब उन्होने SDM से पर्ची मांगी और मशीनो के नतीजे मिलाने के लिये फिर से गिनती करने को कहा तो SDM ने साफ इंकार कर दिया । जिस कारण उन्हें आपना हक लेने के लिये उम्मीदवारो को साथ लेकर धरना तक लगाना पडा । उन्होने साफ कहा कि ऐसे चुनाव जीत कर कांग्रेस कौंसिल पर राज तो कर सकती है लेकिन आम लोगों के दिलो पर राज नही कर सकती ।

Total Page Visits: 94 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *